शादी अनुदान योजना

  • भूमिका, कार्य एवं उत्तरदायित्व
  • उद्देश्य

    योजना का उद्देश्य अन्य पिछड़े वर्ग के निर्धन परिवार की पुत्रियों की शादी हेतु अनुदान दिया जाता है, जिससे परिवार की आर्थिक स्थिति में सुधार हो सके। पिछड़े वर्ग के निर्धन परिवारों के स्तर को निरन्तर ऊंचा उठाने का प्रयास पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग द्वारा किया जा रहा है। अन्य पिछड़े वर्ग की निःसहाय निर्धन तथा गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले परिवारों की पुत्रियों की शादी हेतु अनुदान दिये जाने का प्राविधान है। शादी अनुदान योजना में रू0 20,000/- प्रति शादी की सहायता दी जाती है।

    पात्रत्रा

    • शादी अनुदान योजना अन्य पिछड़े वर्ग (अल्पसंख्यक पिछड़े वर्ग को छोड़कर) के गरीब व्यक्तियों की पुत्रियो की शादी हेतु अनुदान दिलाये जाने के सम्बन्ध में एक कम्यूटरीकृत आनलाइन योजना है।
    • उक्त योजनान्तर्गत आवेदक की आय गरीबी सीमा के अन्तर्गत शहरी क्षेत्र में रू0 56,460/-प्रतिवर्ष तथा ग्रामीण क्षेत्र में रू0 46,080/- प्रतिवर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए।
    • विवाह हेतु किये गये आवेदन में लड़की की उम्र 18 वर्ष एवं लड़के की उम्र 21 वर्ष या उससे अधिक होनी अनिवार्य है।
    • अन्य पिछडे वर्ग के आवेदको को तहसील द्वारा आनलाइन निर्गत जाति प्रमाण पत्र का क्रमाॅंक आनलाइन आवेदन पत्र में अंकित करना अनिवार्य होगा।
    • उक्त योजनान्तर्गत पति की मृत्यु के उपरान्त निराश्रित महिला अथवा विधवा आवेदक को वरीयता प्रदान की जायेगी और इनको आय प्रमाण पत्र की आवश्यकता नहीं होगी।
    • एक ही परिवार से अधिकतम 02 पुत्रियों की शादी हेतु अनुदान अनुमन्य होगा।

    बजट आवंटन

    • निदेशालय द्वारा जनपदो में संबधित वर्गो की जनसंख्या तथा उस वर्ग में व्याप्त गरीबी को ध्यान में रखते हुये वित्तीय वर्ष के प्रारम्भ में जनपदवार नोशनल आवंटन किया जायेगा तथा उक्त आवंटन की 50 प्रतिशत की राशि अप्रैल माह में जनपद को अवमुक्त की जायेगी।
    • यदि किसी जनपद में पर्याप्त संख्या में आवेदन उपलब्ध नहीं होते है, तो वित्तीय वर्ष के अन्तिम त्रैमास में निदेशालय द्वारा उक्त जनपद के अवशेष बजट को किसी अन्य जनपद में आवश्यकतानुसार पुर्नआवंटित कर सकेगे।

    आनलाइन आवेदन पत्र भरने की प्रक्रिया

    • उक्त योजनान्तर्गत आवेदक द्वारा जनसुविधा क्रेन्दों, जिला पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी कार्यालय, साइबर कैफे या निजी बेबसाइट द्वारा विभाग की बेबसाइटhttp://www.shadianudan.upsdc.gov.inपर स्वयं आनलाइन आवेदन करना अनिवार्य होगा, अन्यथा किसी अन्य के माध्यम से आवेदन स्वीकार नहीं किये जायेगें। आवेदक में दर्ज प्रविष्टियो की शुद्वता का पूर्ण उत्तदायित्व स्वयं आवेदक का होगा।
    • योजनान्तर्गत आवेदक द्वारा आनलाइन आवेदन शादी की तिथि के 90 दिन पूर्व तथा 90 दिन पश्चात् तक करना अनिवार्य होगा।
    • आवेदक आनलाइन आवेदन करने के पश्चात् सबमिट स्वहस्ताक्षरित अपलोड किये गये सभी अभिलेखो जैसे-आाधार कार्ड, आय प्रमाण पत्र, जाति प्रमाण पत्र, आवेदक का आधार कार्ड, शादी की तिथि निर्धारित होने का प्रमाणपत्र (शादी कार्ड), विधवा/विकलांग होने की स्थिति में प्रमाण पत्र एवं बैंक खाता सम्बन्धी प्रपत्रो की प्रिन्ट आउट कापी अपने पास रखेगे।
    • तत्पश्चात् आवेदक प्रिन्ट आउट की हार्डकाॅपी (शहरी क्षेत्र के लाभार्थियों हेतु) शहरी क्षेत्र में उपजिलाधिकारी द्वारा नामित सत्यापनकर्ता अधिकारी/कर्मचारी यथा लेखपाल के यहाॅं तथा (ग्रामीण क्षेत्र के लाभार्थियों हेतु) ग्रामीण क्षेत्र में खण्ड विकास अधिकारी द्वारा नामित सत्यापनकर्ता अधिकारी/कर्मचारी यथा-ग्राम्य विकास अधिकारी/ग्राम पंचायत अधिकारी/सहायक विकास अधिकारी के यहाॅं उपलब्ध करायेगे तथा संबंधित सत्यापनकर्ता अधिकारी/कर्मचारी प्राप्ति रसीद संबधित आवेदक को उपलब्ध करायेगे। यह कार्य सत्यापनकर्ता आनलाइन आवेदन की तिथि से विलम्बतम 21 दिनो के अन्दर सम्पन्न कराना सुनिश्चित करेेगें।

    जिला पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी/खण्ड विकास अधिकारी एवं उपजिलाधिकारी का दायित्व

    • सत्यापनकर्ता की आख्या प्राप्त होने के 07 दिनो के अन्दर संबंधित उपजिलाधिकारी/खण्ड विकास अधिकारी आनलाइन डिजिटल हस्ताक्षर कर आवेदन पत्र को अग्रसारित करेंगें तथा आवेदको के आवेदन पत्रों को (मय संलग्नको सहित हस्ताक्षरित प्रति) जिला पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी कार्यालय को उपलब्ध करायेगें।
    • तत्पश्चात् जिला पिछडा वर्ग कल्याण अधिकारी द्वारा हार्ड कापी में प्राप्त आवेदनपत्रों के संलग्नको का डाटा मिलान किया जायेगा तथा सही पाये गये आवेदन पत्रों पर वैरीकफकेशन एवं वैलिडेशन आदि की अग्रिम कार्यवाही 15 दिनों में पूर्ण की जायेगी।
    • समयान्तर्गत प्राप्त न होने वाले आवेदन पत्रों के सम्बन्ध में समयबद्व निस्तारण कराये जाने हेतु जिला पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी ऐसे प्रकरणो की सूची जिलाधिकारी को उपलब्ध करायेगे तत्पश्चात् जिलाधिकारी स्तर से कार्यवाही सुनिश्चित की जायेगी।
    • योजनान्तर्गत समयबद्व ढ़ग से कार्यवाही कराने हेतु उपजिलाधिकारी एवं खण्ड विकास अधिकारी द्वारा तहसील/विकास खण्ड स्तर पर एक नोडल अधिकारी नामित किया जायेगा , जो प्राप्त आवेदन पत्रों का संबधित अधिकारियों से स्थलीय सत्यापन कराकर समयबद्व कार्यवाही कराना सुनिश्चित करेंगे।
    • सत्यापनोपरान्त रिपोर्ट प्राप्त होने पर जिला पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी डिजिटल सिग्नेचर से आनलाइन प्राप्त पात्र अभ्यर्थियों की सूची साफ्टवेयर में दी गयी व्यवस्थानुसार 15 दिनो के अन्दर जनपदीय लाॅगिन पर आनलाइन जनरेट करते हुये जनपद स्तरीय समिति की बैठक कर हार्ड कापी पर स्वीकृति/अनुमोदन प्राप्त कर जिलाधिकारी की लाॅगिन पर संबधित पात्र/अपात्र आवेदन पत्रों पर कार्यवाही कराना सुनिश्चित करेगे।
    • शादी अनुदान की योजनाओं के अन्तर्गत आनलाइन आवेदन पत्र आमंत्रित करने की प्रक्रिया अन्तर्गत जनपद स्तरीय अनुश्रवण समिति का गठन किया जाता है, जिसमें कमेटी के अध्यक्ष जिलाधिकारी एवं मुख्य विकास अधिकारी, समस्त उपजिलाधिकारी, समस्त खण्ड विकास अधिकारी एवं जिला पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी, सदस्य होते है, जो माह में कम से कम एक बार बैठक पर विचार कर कार्यवाही की जाती है।
    • शादी अनुदान स्वीकृत हेतु जनपद स्तरीय समिति का गठन किया जाता है, जिसमें कमेटी के अध्यक्ष जिलाधिकारी, उपाध्यक्ष मुख्य विकास अधिकारी एवं  जनपद के समस्त मा0 सासंद गण/मा0 विधायकगण अथवा उसके नामित प्रतिनिधि सदस्य तथा जिला पिछडा वर्ग कल्याण अधिकारी, सदस्य/सचिव होते है, जो माह में कम से कम 01 बार बैठक आयोजित करते है।
    • तत्पश्चात् प्रथम आवत एवं प्रथम पावत के आाधार पर शादी अनुदान की राशि का भुगतान पी0एफ0एम0एस प्रणाली के माध्यम से ई-कुबेर द्वारा सीधे लाभार्थियों के खातो में अन्तरित की जाती है।
    • वित्तीय वर्ष की समाप्ति के उपरान्त विगत वित्तीय वर्ष की कोई माॅंग अगले वित्तीय वर्ष में अग्रेणीत नही की जायेगी।
    • विगत् 3 वर्षो में शादी अनुदान योजना की प्रगति रिपोर्ट

      वित्तीय वर्ष लाभान्वित परिवारों की संख्या

      धनराशि
      (करोड़ रू0)

      2016-17  70,774 141.55
      2017-18  76,110 152.22
      2018-19 96,907 194.00

      शादी अनुदान से सम्बन्धित शाासनादेश

      क्र०सं० शासनादेश संख्‍या दिनांक विषय डाउनलोड
      12 13/2019/423/64-2-2019-1(66)/2006 06 जून, 2019 अन्‍य पिछड़े वर्ग (अल्‍पसंख्‍यक पिछड़े वर्ग को छोड़कर) के गरीब व्‍यक्तियों की पुत्रियों की शादी हेतु अनुदान  के सम्‍बन्‍ध में। देखें
      11 21/2017/948/64-2-2017-1(66)/2006 08 दिसम्‍बर, 2017 अन्‍य पिछड़े वर्ग (अल्‍पसंख्‍यक पिछड़े वर्ग को छोड़कर) के गरीब व्‍यक्तियों के पुत्रियों की शादी हेतु अनुदान  के सम्‍बन्‍ध में। देखें
      10 21/2016/396/64-2-2016-1(66)/2006 18 जुलाई, 2016 अन्‍य पिछड़े वर्ग (अल्‍पसंख्‍यक पिछड़े वर्ग को छोड़कर) के गरीब व्‍यक्तियों के पुत्रियों की शादी हेतु अनुदान  के सम्‍बन्‍ध में। देखें
      09 7/2016/106/64-2-2016-1(66)/2006 29 अप्रैल, 2016 अन्‍य पिछड़े वर्ग (अल्‍पसंख्‍यक पिछड़े वर्ग को छोड़कर) के गरीब व्‍यक्तियों के पुत्रियों की शादी हेतु अनुदान  योजना के अन्‍तर्गत आवेदन-पत्र, स्‍वीकृत एवं वितरण इण्‍टरनेट आधारित प्रणाली द्वारा किये जाने के  सम्‍बन्‍ध में। देखें
      08 490/64-2-2014 10 अक्‍टूबर, 2014 वित्‍तीय वर्ष 2014-15 में अन्‍य पिछड़े वर्ग के गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले व्‍यक्तियों की पुत्रियों की शादी एवं बीमारी हेतु बजट प्रविधान अत्‍यंत कम होने के कारण वर्तमान वित्‍तीय वर्ष में उक्‍त योजना को स्‍थगित किये जाने के सम्‍बन्‍ध में। देखें
      07 1401/64-2-2009-1(66)/2006 09 सितम्‍बर, 2009 अल्‍प संख्‍यक समुदाय के पिछड़े वर्ग के गरीबी रेखा सेनीचे जीवन यापन करने वाले अभिभावकों की पुत्री कीशादी के लिए आर्थिक सहायता दिये जाने के सम्‍बन्‍ध में। देखें
      06 996(1)/64-2-2009-1(66)/2006 17 जुलाई, 2009 अन्‍य पिछड़े वर्ग के निर्धन एवं असहाय व्‍यक्तियों के इलाज तथा पुत्रियों की शादी योजना के अन्‍तर्गत प्राप्‍त आवेदन पत्रों का सत्‍यापन। देखें
      05 996/64-2-2009-1(66)/2006 11 जून, 2009 अन्‍य पिछड़े वर्ग के गरीबी रेखा के नीचे जीवन-यापन करने वाले व्‍यक्तियों की पुत्रियों की शादी एवं बीमारी हेतु आर्थिक सहायता दिये जाने के सम्‍बन्‍ध में। देखें
      04 1925/64-2-2008-1(66)/2006 08 दिसम्‍बर, 2008 अन्‍य पिछड़े वर्ग के गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले व्‍यक्तियों की पुत्रियों की शादी एवं इलाज हेतु सहायता योजना में सहायता राशि के भुगतान के सम्‍बन्‍ध में। देखें
      03 493/64-2-2008-1(66)/2006 25 मार्च, 2008 अन्‍य पिछड़े वर्ग के गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले व्‍यक्तियों की पुत्रियों की शादी एवं इलाज हेतु आर्थिक सहायता दिये जाने के सम्‍बन्‍ध में। देखें
      02 491/64-2-2008-1(66)/2006 25 मार्च, 2008 अन्‍य पिछड़े वर्ग के गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले व्‍यक्तियों की पुत्रियों की शादी एवं इलाज हेतु आर्थिक सहायता दिये जाने के सम्‍बन्‍ध में। देखें
      01 10(1)/64-2-2008-1(66)/2006 18 जनवरी, 2008 अन्‍य पिछड़े वर्ग के निर्धन एवं असहाय व्‍यक्तियों के इलाज तथा पुत्रियों की शादी (वित्‍तीय सहायता) नियमावली, 2007 देखें